Digital Gold: क्या है डिजिटल गोल्ड? डिजिटल गोल्ड खरीदने के फायदे?

लोगों को गोल्ड में इन्वेस्टमेंट करना एक सुरक्षित ऑप्शन लगता है और भारत जैसे देश में किसी भी शुभ मुहूर्त पर गोल्ड खरीदने के चलन बहुत पुराना है। इसलिए लोग बड़े पैमाने पर सोने की खरीदारी करते हैं या फिर गोल्ड में इन्वेस्ट करते हैं।
पिछले कुछ समय से डिजिटल क्रांति काफी तेजी के साथ बढी हुई है, जिसका इफेक्ट गोल्ड इन्वेस्टमेंट पर भी पड़ा है और इसीलिए अब सोना फिजिकल के साथ ही साथ डिजिटल फॉर्मेट में भी मिलने लगा है। डिजिटल फॉर्मेट में मिलने वाले सोने को ही डिजिटल गोल्ड कहा जाता है जिसे ऑनलाइन बेचने का काम विभिन्न प्लेटफार्म और कंपनियों के द्वारा किया जा रहा है। अगर आप “डिजिटल गोल्ड क्या होता है” के बारे में जानना चाहते हैं साथ ही “डिजिटल गोल्ड कैसे खरीदें” या “डिजिटल गोल्ड के फायदे” के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं इस आर्टिकल को अंत तक पूरा पढ़ें। हमने रीडर्स को संछेप में यह बताने की पूरी कोसिस की है आज के मौजूदा समय में फिजिकल गोल्ड खरीदने के साथ साथ डिजिटल गोल्ड या Virtual Gold के फायदे क्या क्या हैं जिससे आप भी डिजिटल गोल्ड में निवेश शुरू कर सकें। साथ ही यह भी जान सकेंगे की आखिर डिजिटल गोल्ड होता क्या है ? और हम आखिर में डिजिटल गोल्ड में निवेश कैसे शुरू करें और कहाँ से डिजिटल गोल्ड खरीदें। 

डिजिटल गोल्ड क्या होता है?

डिजिटल गोल्ड एक वर्चुअल गोल्ड होता है अर्थात इसकी खरीदारी आप ऑनलाइन ही कर सकते हैं और इसे आप ऑनलाइन ही बेच सकते हैं। डिजिटल गोल्ड खरीदने के लिए ऑनलाइन विभिन्न प्रकार के प्लेटफार्म मौजूद है, जो फिक्स चार्ज ले करके आपको डिजिटल गोल्ड में इन्वेस्ट करने की सुविधा देते हैं।
मुख्य तौर पर डिजिटल गोल्ड का ट्रांजैक्शन सेफगोल्ड और MMTC के द्वारा किया जाता है जिसे इंडिया और स्विट्जरलैंड के द्वारा मिलकर के स्थापित किया गया है अर्थात यह इंडिया और स्विट्ज़रलैंड की संयुक्त कंपनी है।
डिजिटल गोल्ड को खरीद करके आप सोने में इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं। जैसे आप किसी दुकान पर जाकर के सोने की खरीदारी करते हैं वैसे ही आप ऑनलाइन डिजिटल गोल्ड बेचने वाले प्लेटफार्म से डिजिटल गोल्ड की खरीदारी कर सकते हैं।
कुछ प्लेटफार्म आपको बहुत ही कम कीमत पर डिजिटल गोल्ड में इन्वेस्टमेंट करने की सुविधा देते हैं। जब आप डिजिटल गोल्ड खरीदते हैं तो डिजिटल गोल्ड ऑनलाइन ही स्टोर हो जाता है ना कि आपको फिजिकल फॉर्मेट में प्राप्त होता है।

डिजिटल गोल्ड कैसे खरीदें?

हमारे भारत देश में मुख्य तौर पर 3 प्रकार के डिजिटल गोल्ड बेचने वाले प्लेटफार्म है जो निम्नानुसार है।

ऊपर बताए गए तीनों ही कंपनी गोल्ड खरीदने का काम करती है और उनके प्लेटफार्म के द्वारा इन्वेस्टर को गोल्ड को खरीदने के साथ ही साथ गोल्ड को सुरक्षित रखने की सुविधा भी दी जाती है। इसके अलावा आप नीचे दिए हुए प्लेटफार्म से ई गोल्ड की खरीदारी कर सकते हैं।

  • पेटीएम
  • फोन पे
  • गूगल पे
  • एयरटेल पेमेंट बैंक
  • ऐमेज़ॉन
  • तनिष्क

ऊपर दिए हुए किसी भी प्लेटफार्म की आधिकारिक वेबसाइट अथवा एप्लीकेशन पर विजिट करके आप डिजिटल गोल्ड की खरीदारी कर सकते हैं और डिजिटल गोल्ड में निवेश शुरू कर सकते हैं। इसके अलावा आप डिजिटल गोल्ड को तुरंत ही बेच सकते हैं अथवा खरीद सकते हैं।

ऊपर दिए गए एप्लीकेशन के अलावा यदि आप आज ही डिजिटल गोल्ड में निवेश शुरू करने की सोच रहे हैं तो आप अपने नजदीकी बैंक में जाकर या ऑनलाइन बैंकिंग ऑप्शन के डिजिटल गोल्ड सेक्शन में जाकर अपना निवेश शुरू कर सकते हैं वो भी बिना देरी किए और बिना किसी लम्बी प्रक्रिया के।


यह भी पढ़ें : 

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड क्या है? | Sovereign Gold Bond (SGB) Scheme in Hindi

किसान विकास पत्र क्या होता है ?


डिजिटल गोल्ड के फायदे , Benefit of Digital Gold 

आपने अब यह तो  जान लिया कली डिजिटल गोल्ड होता क्या है और डिजिटल गोल्ड आप कहा से और कैसे खरीद सकते हैं।  चलिए अब जानते हैं डिजिटल गोल्ड के एडवांटेज अथवा डिजिटल गोल्ड के लाभ निम्नानुसार है।

Digital Gold खरीदने का कोई मेकिंग चार्जेस नहीं

  • अगर आप सुनार की दुकान से सोने की खरीदारी करते हैं तो आपको तकरीबन 10 परसेंट से लेकर के 15 परसेंट तक का मेकिंग चार्ज देना होता है परंतु अगरआप ऑनलाइन डिजिटल गोल्ड की खरीदारी करते हैं तो आपको कोई भी मेकिंग चार्ज नहीं देना पड़ता है, क्योंकि ऑनलाइन डिजिटल गोल्ड खरीदने पर आपको फिजिकल फॉर्मेट में सोना नहीं मिलता है।
  • Digital Gold में कोई भी निम्नतम इन्वेस्टमेंट नहीं। आप चाहें तो 100 रुपये का Digital gold खरीदें या 10000 का डिजिटल गोल्ड। 
  • कोई भी कम से कम इन्वेस्टमेंट की आवश्यकता डिजिटल गोल्ड में नहीं है। व्यक्ति चाहे तो ₹1 में भी अच्छी क्वालिटी के सोने की खरीदारी कर सकता है। दूसरी तरफ फिजिकल गोल्ड में इस प्रकार की सुविधा आपको हासिल नहीं होती है।

Digital Gold में चोरी का डर नहीं
डिजिटल गोल्ड ऑनलाइन ही स्टोर होता है। इसलिए उसकी चोरी होने की संभावना बिल्कुल भी नहीं है। व्यक्ति अपनी इच्छा के अनुसार डिजिटल गोल्ड की डिलीवरी फिजिकल तौर पर ले सकता है साथ ही डिजिटल गोल्ड को वह ऑनलाइन लोन में कॉलेटरल के तौर पर यूज कर सकता है। व्यक्ति जब चाहे तब डिजिटल गोल्ड को बेच सकता है।

डिजिटल गोल्ड के नुकसान
डिजिटल गोल्ड के डिसएडवांटेज क्या है अथवा डिजिटल गोल्ड की हानि क्या है, आइए इसके बारे में जानते हैं।
  • किसी भी प्रकार का नियामक डिजिटल गोल्ड के ट्रांजेक्शन की देखरेख के लिए नहीं है और इसलिए यह थोड़ा सा जोखिम भरा होता है।
    कोई भी रेगुलेटर नहीं होने के कारण नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के द्वारा अपने साथ जुड़े हुए मेंबर पर डिजिटल गोल्ड को बेचने पर स्टॉपेज लगा दिया है जिसकी
  • वजह से Upstox और groww जैसे प्लेटफार्म डिजिटल गोल्ड की सेलिंग नहीं कर सकेंगे।
  • डिजिटल गोल्ड को फिजिकल गोल्ड में हासिल करने के लिए आपको तकरीबन 3 परसेंट का जीएसटी भी देना होता है जिसकी वजह से इसकी लागत थोड़ी ज्यादा हो जाती है।
  • कुछ ऐसे डिजिटल प्लेटफॉर्म मौजूद है जो अपने कस्टमर से डिजिटल गोल्ड को स्टोर करने के लिए भी चार्ज की वसूली करते हैं।
  • डिजिटल गोल्ड को अपने घर पर फिजिकल फॉर्मेट में हासिल करने के लिए आपको मेकिंग चार्ज देना पड़ता है। इसके अलावा आपको डिलीवरी चार्ज की भी पूर्ति करनी पड़ती है। यह भी डिजिटल गोल्ड का एक नुकसान है।
मौजूदा समय में Digital Gold का प्राइस या रेट क्या है? Digital Gold Price  

आज की तारिख में , भारत में डिजिटल गोल्ड का रेट या कहें Digital Gold Price 52,300 इंडिया रुपया है। आप डिजिटल गोल्ड को ऊपर बताएं गए एप्लीकेशन ये प्लेटफार्म से खरीद सकते हैं।

क्या डिजिटल गोल्ड में इन्वेस्टमेंट करना सही है?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डिजिटल गोल्ड में कोई भी रेगुलेटरी अथॉरिटी नहीं है परंतु फिर भी इसमें इन्वेस्टमेंट करना सिक्योर माना जा रहा है जिसका सबसे बड़ा कारण यह है कि सरकारी एजेंसी एमएमटीसी इस फील्ड में बहुत ही बढ़िया काम कर रही है।
आप जो भी डिजिटल गोल्ड खरीदते हैं, वह आपके पेमेंट करने के पश्चात वॉलेट में जाकर के स्टोर हो जाता है जिसकी वजह से फ्रॉड होने की संभावना बहुत ही कम हो जाती है। हालांकि कोई भी रेगुलेटरी अथॉरिटी नहीं होने के कारण थोड़ा सा रिस्क रहता ही है।
गूगल पे से डिजिटल गोल्ड कैसे खरीदें?
गूगल पे से डिजिटल गोल्ड की खरीदारी करने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया का पालन करें।

1: सबसे पहले आपको अपने फोन में मौजूद गूगल पे एप्लीकेशन को ओपन करना है।
2: एप्लीकेशन ओपन हो जाने के बाद आपको स्क्रॉल करके गोल्ड लॉकर पर क्लिक कर देना है।
3: अब आपको बाय गोल्ड वाला ऑप्शन मिलेगा, उस पर क्लिक कर देना है।
4: अब आपको गोल्ड के ग्राम का सिलेक्शन करना है और उसके पश्चात इंटर अमाउंट वाले बॉक्स में आपको पैसे इंटर कर देने हैं।
5: अब आपको मेक पेमेंट वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है और पेमेंट कर देनी है।

 

निष्कर्ष :

आशा करता हूँ कि आपको डिजिटल गोल्ड क्या होता है? जैसे प्रश्न के उत्तर मिल गया होगा। आप सभी फिजिकल गोल्ड खरीदने के साथ साथ डिजिटल गोल्ड में निवेश शुरू कर सकते हैं। यदि आपको आर्टिकल अच्छा लगा या आपको किसी प्रकार का कोई प्रश्न है तो कमेंट बॉक्स में जरुरु बताएं।

Disclaimer:  इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको किसी भी प्रकार का निवेश करने केलिए बाध्य नहीं कर रहे हैं। यह पोस्ट सिर्फ और सिर्फ जानकारी के लिए है।  निवेश करने से पहले अपनी तरफ से पूरी जांच और पड़ताल कर लें। किसी भी प्रकार का नुकसान होने पर जानकारी4U जिम्मेदार नहीं है। 

 

 

FAQ:

Q: डिजिटल गोल्ड खरीदने वाली एप कौन सी है?
ANS: पेटीएम, फोन पे, गूगल पे

Q: डिजिटल गोल्ड कैसे खरीदा जा सकता है?
ANS: डिजिटल गोल्ड बेचने वाले प्लेटफार्म पर पंजीकरण करके।

Q: डिजिटल गोल्ड कब खरीदना सही है?
ANS: अगर इन्वेस्टमेंट के उद्देश्य से आप सोना खरीदना चाहते हैं तो आपको डिजिटल गोल्ड खरीदना चाहिए।

Q: डिजिटल गोल्ड खरीदने के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या है?
ANS: पैन कार्ड, फोन नंबर, ईमेल आईडी

Q: क्या हम कभी भी डिजिटल गोल्ड को बेच सकते हैं?
ANS: जी हां आप कभी भी डिजिटल गोल्ड की सेलिंग कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.