Dussehra 2022: Kab hai? | Dussehra Kab or Kyu Manaya Jata hai?

क्या आपको भी Dussehra 2022 ki date के साथ साथ Dussehra Kyu Or Kab Manaya Jata Hai से संबंधित हर महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करनी है, यदि हां तो आपको हमारे इस पोस्ट को अंत तक पढ़ने की आवश्यकता होगी। क्योंकि आज के लेख में मैं आप सभी को दशहरा क्यों और कब मनाया जाता है से जुड़ी हर महत्वपूर्ण है प्राप्त होने वाली है। तो चलिए सबसे पहले जान लेते है कि आखिर दशहरा मनाया क्यों जाता है।Dussehra-2022-date-kyu-manate-hain

हमारे हिंदू पर्वो में दशहरा पर्व का भी काफी महत्व माना जाता है। इस पर्व को हम सभी विजयदशमी के नाम या फिर बहुत से जगहों पर Doorgapooja के naam से भी जानते है। यह एक ऐसा त्यौहार है जिसे हम सभी बुराई पर अच्छाई की जीत की खुशी में धूम धाम से मनाते है। हालांकि, हर किसी के त्यौहार मनाने का अपना अपना मान्यता अलग अलग हो सकता है।
जैसा कि कई लोग पहले के समय में दशहरे वाले दिन युद्ध पर जाने वाले हथियारों और तलवार वगैरह की पूजा किया करते थे और युद्ध मिली जीत की खुशियां मनाते थे। वही किसानों के लिए नई फसलों के घर आने की खुशी में सेलिब्रेट किया जाता है। मतलब कई कारणों की वजह से दशहरा धूम धाम से मनाया जाता है।

दशहरा क्यों मनाया जाता है और इसके पीछे की क्या कहानी है ? 

यदि मैं आपको सरल शब्दों में दशहरा क्यों मनाया जाता है और इसके पीछे की क्या कहानी है इसकी चर्चा करू तो दशहरा मनाने के पीछे की कहानी भगवान श्री राम से जुड़ी है, जिन्होंने रावण जैसे घमंडी राक्षस का न केवल घमंड तोड़ा बल्कि भगवान श्री राम ने इसका वध करके बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रमाण दिया है।
श्री राम जी के पिता जी का नाम राजा दशरथ था और राम की शादी जनक पुत्री सीता से हुई थी। वही राम के छोटे भाई का नाम लक्ष्मण था। राजा दशरथ की पत्नी कैकई की वजह से श्री राम और सीता संग लक्ष्मण को 14 वर्ष वनवास काटने के लिए अयोध्या नगरी को छोड़ कर जाने की आवश्यकता पड़ी। वही वनवास काटते समय दुष्ट रावण की दृष्टि सीता पर पड़ी और उसने सीता का हरण कर लिया।
रावण सीता को हरण करके अपने सोने के लंका में लेकर गया। रावण में घमंड बहुत भरा पड़ा था और वे शिव भक्त भी था। कहा जाता है कि रावण बहुत बड़ा शिव भक्त तो था लेकिन विष्णु को वे अपना शत्रु माना करता था। रावण के अपार घमंड को तोड़ने के लिए और रावण के अत्याचार से लोगो को बचाने के लिए ही धरती पर विष्णु जी ने राम अवतार में राजा दशरथ के घर जन्म लिया था।


यह भी पढ़ें :-

हम दीपावली क्‍यों मनाते हैं? 2022 Diwali Date

भाई दूज क्यों मनाते हैं? 2022 में भाई दूज कैसे मनाई जाती है?


जब रावण ने सीता माता का हरण कर लिया तब राम जी ने हनुमान और वानर सेना की सहायता ली और युद्ध के लिए तैयार हो गए। वही घमंडी रावण इस बात से अनजान था कि विष्णु के रूप में श्री राम उसका अंत करने के लिए आ चुके है। श्री राम ने रावण से युद्ध किया और इस युद्ध में रावण के भाई विभीषण ने श्री राम की शरण में जाकर अपनी तरफ से पूरी सहायता भी किया।
वही इस युद्ध में सारे रक्षण सेना का अंत हो गया और इस युद्ध में रावण ने न केवल अपने पुत्रों को खोया बल्कि रावण ने अपने लंका को ही इस युद्ध में तहस नहस कर दिया। रावण चाहता तो श्री राम की शरण में जाकर अपनी राक्षस कुल का विनाश होने से बचा सकता था लेकिन रावण के घमंड के कारण उसका अंत होना निश्चित था। काफी देर तक युद्ध चलती रही और इस युद्ध में आखिरकार श्री राम ने रावण का अंत कर ही दिया।
वही इस युद्ध में जीत हासिल करने और वनवास काल काटने के पश्चात जब श्री राम अपने भाई लक्षण और पत्नी सीता के साथ अयोध्या नगरी वापस हुआ तो पूरी अयोध्या मानो झूम ही उठी। यही कारण है कि बुराई पर अच्छाई की जीत के कारण हर साल दशहरा 2022 बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है और रावण दहन भी किया जाता है।

इस वर्ष 2022 में दशहरा कब है | Dussehra 2022 Dates  

साल के शुरू होते ही सभी लोग अपने मुख्य त्यौहार की डेट जानने में लग जाते हैं , Google पर हमारी खोज कुछ सवालों के साथ जैसे Dussehra 2022 ki Date kya hai? 2022 me Dussehra/Durgapooja kab hai? शुरू होजाती है।
मुख्य रूप से देखा जाए तो जब नवरात्रि महोत्सव खत्म होता है उसी के अगले दिन दशहरा मनाया जाता है। वही साल 2022 में दशहरा कब मनाया जाएगा इसकी चर्चा करें, तो 5 अक्टूबर 2022 को शुक्रवार के दिन दशहरा बड़ी ही धूम धाम के साथ हर वर्ष की तरह मनाया जाएगा। हमारे देश में कई स्थान पर रावण के बड़े बड़े पुतले को दशहरा के दिन जलाया जाता है। हालांकि, कई स्थानों पर रावण की पूजा भी की जाती है। 

नवरात्रि 2022 की तिथि क्या है | Navratri 2022 Dates in Hindi

नवरात्रि 2022 की तिथि की चर्चा करें, तो साल 2022 में नवरात्रि महोत्सव 26 सितंबर 2022 से ही शुरू है। वही नवरात्रि महोत्सव का अंतिम तिथि मतलब समापन की तिथि 5 सितंबर हो होगी। नवरात्रि में माता दुर्गा की 9वो रूपो की पूजा की जाती है और वही अगले दिन दशहरा के लिए रावण दहन किया जाता है। 

 

निष्कर्ष –

आशा करता हूं कि आपको हमारा आज का यह Dussehra Kyu Or Kab Manaya Jata Hai,  का यह पोस्ट पसंद आया होगा। साथ ही साथ आपको Dussehra 2022 Date , Navratri 2022 date की जानकारी भी मिल गई होगी।  आज के लेख में मैंने आपको दशहरा क्यों और कब मनाया जाता है से जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान किया है। आशा करता हूं कि आपको हमारे आज के इस पोस्ट से जुड़ी हर इंफॉर्मेशन प्राप्त हो गई होगी। साथ ही अगर आपको हमारे आज के इस पोस्ट से जुड़ी कोई भी सवाल पूछना हो तो आप कमेंट करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.