SIP क्या है ? | What is SIP in Hindi | सिप कैसे शुरू करें ?

आज कल आप सभी ने TV, अख़बारों में , रेडियो पर “SIP में invest करें” जैसे वाक्यों को खूब सुना होगा। बहुत से लोगों ने इसे जानना भी चाहा होगा पर इंटरनेट पर इस विषय के बारे में सटीक जानकारी बहुत ही कम उपलब्ध है या अधूरी उपलब्ध है।आज का ब्लॉग आर्टिकल SIP क्या है? जिसे बहुत लोग सिप भी कहते हैं , की जानकारी के ऊपर आधारित है। सिप कैसे शुरू करें? SIP के फायदे क्या हैं ? जैसे विषयों पर आप सभी को पूरी जानकारी से रूबरू कराना है जिससे आप सभी एक सुरक्षित भविष्य की नीव रख सकें।

SIP क्या है?

बचपन में हम सभी ने गुल्लक का उपयोग जरूर किया होगा, और आज भी छोटे बच्चे गुल्लक का उपयोग करते भी हैं। हमें  बचपन में जब भी कुछ खरीदना होता था या फिर दिवाली, दशहरा जैसे त्यौहारों में मेला घूमने के लिए पैसे इकट्ठा करने होते थे तो अपने अपने गुल्लकों में थोड़े थोड़े पैसे इकट्ठा करना शुरू कर देते थे। 

आज भी अगर हम बचत करने का वही तरीका अपनाये तो कितना अच्छा होगा। लेकिन इस बचत की हुई राशि से हम अपने सपनो को, भविष्य की जरूरतों को नहीं पूरा कर सकते क्युकी यह बचत समय के हिसाब से नहीं बढ़ेगी ,क्युकी इसमें Compounding सिद्धांत नहीं लागु होता। इस परेशानी का हल है SIP , जिसे बड़ों का गुल्लक भी कह सकते हैं। पर सिप क्या है? क्या आपके पास इसका जवाब है ? यदि हम एक लम्बे समय तक निरंतर और एक निश्चित बचत राशि को ऐसी जगह में निवेश करें जहा से उसमें और इजाफा होसके तब वो एक सफल बचत कहलाएगा।

आइए फिर सबसे पहले जानते हैं Compounding क्या है? सिद्धांत के बारे में जिसपर सिप काम करता है। 

Compounding क्या है ?

Compounding को दुनिया का 8वां अजूबा कहना गलत नहीं होगा और यह मेरे अपने विचार नहीं बल्कि  Albert Einstein ने कहा है कि – 

कम्पाउंडिंग  दुनिया का आठवां अजूबा है। जो इसे समझता है, वह कमाता है; वह जो नहीं समझता , वो भुगतान करता है। ‘

Compounding के सिद्धांत के अनुसार ,निवेश करने पर जो भी कमाई आपकी होती है , उसे भी फिर से निवेश कर देना कंपाउंडिंग है। इसमें आपको, आपके मूलधन के साथ साथ  उसके ब्याज पर भी ब्याज मिलता है।  यह आपके निवेश को बढ़ाने का सबसे अच्छा और आसान जरिया है। कंपाउंडिंग के जरिये एक छोटी बचत राशि को एक लम्बी और निश्चित अवधि में एक पर्याप्त राशि में बदल सकते हैं ।जितनी अधिक निवेश की समय सीमा होगी, उतना ही अधिक मूल्य राशि होगी।

सिप क्या है ? SIP kya hai | Full Form of SIP 

SIP फुल फॉर्म है  Systematic Investment Plan जिसे हिंदी में व्यवस्थित निवेश योजना कहते हैं। जैसा की इसके नाम से स्पष्ट होता है , निवश करने का वह जरिया जो निरंतर हो और वेवस्थित हो। SIP हम सभी को बचत करने के लिए एक छोटी राशि को एक लम्बे समय के लिए Mutual Funds , Gold , ETF में निवेश करने की सुविधा प्रदान करता है। सिप में वे लोग आसानी से निवेश कर सकते हैं जिनकी बचत छोटी है। वे एक लम्बे समय बाद बड़ी मूल्य राशि को इक्कट्ठा कर सकते हैं।

जैसा की ऊपर आपको बताया गया कम्पाउंडिंग क्या है, जिस सिद्धांत पर SIP काम करता है। यह आपकी छोटी मात्रा में निरंतर और लम्बे  समय में निवेश की हुई राशि को कई गुना बढ़ा देता है।

उदाहरण से समझते हैं –  

मान लीजिए आप ने ₹5000 रूपए प्रति माह SIP के जरिये किसी Mutual Fund में निवेश करना तय किया। जिस Mutual Fund को  आपने चुना (यहाँ Equity MF ) वह 15% return प्रदान करता है। अपने  निवेश  25 वर्षों तक निरंतर जारी रखा। आपकी यह छोटी सी सिप आगे चलकर 1.5 Crore में बदल जाएगी। नीचे दिए SIP Calculator का उपयोग करके चेक कर सकते हैं। 

SIP सिप कैसे शुरू करें ? How to Start SIP 

हमने ये तो जान लिया कि SIP क्या है? पर लोगों में सबसे बड़ी परेशानी होती है किसी भी विषय की जानकारी  बाद उसे शुरू करना। SIP कैसे शुरू करें ? यह सबसे आम प्रश्न होजाता है। तो आइए आपको बताते हैं कि आप किस प्रकार से अपने Mobile से ही SIP शुरू कर सकते हैं। 

SIP Mutual Fund में सीधे और आसानी से निवेश कर सकते हैं। आप मात्र 500 रूपए से अपनी monthly सिप शुरू कर  सकते हैं। SIP के जरिये आपके बैंक खाते से हर महीने तय रकम म्यूच्यूअल फंड में आटोमेटिक रूप से निवेश हो जाती है। आजकल मोबाइल application की भरमार है जो आपको SIP शुरू करने की सुविधा प्रदान करते हैं।  

Zerodha एक प्रकार की discount broker कंपनी है जिसपे आप ₹300 से ₹500 का भुगतान करके बड़ी आसानी अपना Demat Account खुलवा सकते हैं और Mutual Fund  में SIP शुरू कर सकते हैं। नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें और स्टेप्स को फॉलो करें – 

Zerodha  

Zerodha के Coin application के जरिये आपको SIP में निवेश करने की सुविधा मिलती है। 

Zerodha में खाता खुलवाने के लिए आपको निम्लिखित documents को तैयार रखना होगा –

  1. PAN Card
  2. Adhaar Card
  3. Signature किया हुआ Check
  4. अपने बैंक की पासबुक या स्टेटमेंट अपने पास रखें

यह भी पढ़ें

Mutual Fund क्या है?
Demat Account क्या है?DEMAT Account कैसे खुलवाएं ?
स्टॉक मार्केट क्या है?


SIP शुरू करने  के लिए क्या करना चाहिए
  1. अपने उद्देश्यों को निर्धारित करें.
  2. निवेश का कार्यकाल निर्धारित करना.
  3. KYC कंप्लेंट होना.
  4. आप Investment करने की योजना के लिए सर्वश्रेष्ठ Plan का निर्धारण करें।
  5. निवेश राशि और दिनांक तय करें.
  6. मॉनिटर और असंतुलन आपके निवेश.
SIP के 8 महत्वपूर्ण फायदे | 8 Benefits of SIP 

आप सभी को सिप की जानकारी हो गई होगी। आइये जानते हैं कि SIP के फायदे क्या हैं ? किस प्रकार से यह छोटे निवेशक के लिए एक सिरक्षित जरिया है। कैसे वह अपनी छोटी से बचत को बड़े मूल्य में बदल सकता है। SIP के 10 फायदे –

  1. निवेश में सहूलियत: जैसा की आपको बताया गया है SIP के जरिये आप छोटी छोटी मात्रा में अपना निवेश प्लान कर सकते हैं। इससे आपको निरंतरता और लम्बे समय तक निवेश करने की छूट मिलती है।
  2. समय की आजादी: सिप SIP का सबसे अच्छा फ़ायदा है अपनी सुविधा अनुसार निवेश करने की तारीख को चुनने की आजादी। आप हर महीने की एक ऐसे तारीख चुन सकते हैं जब आपके पास निवेश करने के लिए बैंक कहते में पैसा उपलब्ध रहता है, जैसे Salary वाले दिन। 
  3. जोखिम : SIP  के जरिये आप Mutual Fund में निवेश करते हैं जो सुरक्षित और काम जोखिम निवेश का सबसे अच्छा माध्यम माना जाता है. जिन्हे Share Market की ज्यादा समझ या समझने का समय नहीं होता वे SIP कर के लाभ कमा सकते हैं ।  
  4. पैसा निकालने की सुविधा: SIP की ज्यादातर स्कीम में Lockin Period नहीं होते जिससे आप अपनी सुविधा और जरूरत के हिसाब से अपना निवेश किया हुआ पैसा निकाल सकते हैं।
  5. व्यवस्थित निवेश: SIP के जरिये आप अपनी पसंद के सिप स्कीम में व्यवस्थित निवेश करके लाभ कमा सकते हैं। 
  6. निरंतरता : SIP में आपका निवेश हर महीने अपने आप एक तय सुदा तारीख में आपका निवेश सिप स्कीम में होजाता है जिससे निंरतरता बनी रहती है। यही निरंतरता आपके लम्बे समय में लाभ का मूल कारण है। 
  7. Compounding: इसी सिद्धांत पर SIP काम करती है जिसमे आपके निवेश में मिले लाभ को दोबारा निवेश किया जाता है और आपको एक लम्बे समय बाद लाभ मिलता है।
  8. Tax benefit: SIP की कुछ स्कीम ऐसी भी हैं जिसमे आप निवेश करके Tax Benefit का लाभ उठा सकते हैं।  

निष्कर्ष:

आशा करता हूँ आप सभी को SIP क्या है ? What is SIP? और सिप फायदे क्या हैं ? SIP कैसे शुरू करें? जैसे विषयों पर जानकारी देने में सफल रहा हूँ। यदि आपको किसी प्रकार की कोई दुविधा हो तो कृप्या Comment box में जरूर बताएं।  

अगर आपको मेरे द्वारा जानकारी पसंद आई है तो कृपया इसे नीचे दिए सोशल platform के जरिए शेयर करें ताकि ये जानकारी औरो तक भी पहुंच सके।

डिस्क्लेमर :

इसमें निहित जानकारी प्रकृति में सामान्य है और केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए है। यहां कुछ भी निवेश या वित्तीय या कराधान सलाह के रूप में नहीं किया जाना चाहिए और न ही किसी वित्तीय उत्पाद के लिए निमंत्रण या आग्रह या विज्ञापन के रूप में माना जाना चाहिए।

2 thoughts on “SIP क्या है ? | What is SIP in Hindi | सिप कैसे शुरू करें ?

  • February 14, 2021 at 10:19 pm
    Permalink

    Kaun se mutual fund me invest kare iski bhi jaankari dijiye…Jo mutual fund acha ho…

    Reply
    • February 14, 2021 at 10:55 pm
      Permalink

      आप SIP के जरिए LargeCap फंड में निवेश कर सकते हैं, एक सुरक्षित निवेश है यदि लंबे समय तक करें और रिटर्न भी अच्छा है।

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *