Mutual Fund क्या है? ।। What is Mutual Fund in hindi

क्या आप जानते है की Mutual Fund  क्या है ? Mutual Fund कैसे काम करता है ? क्या आप भी Mutual Fund में investment करना चाहते हैं? हमें  इन्वेस्टमेंट करने से पहले पूरी जानकारी होना बहुत ही जरुरी है।  हम आपको आज इस आर्टिकल के माध्यम से म्यूच्यूअल फण्ड से जुडी हर वो जानकारी देंगे जो आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगी।

Mutual Fund kya hai?

“बचत” और “भविष्य”,ये दो ऐसे विषय हैं जिनके बारे में हम सब जरूर विचार करते हैं। हम अपने भविष्य में आने वाले खर्चों जैसे बच्चों की पढ़ाई, मेडिकल इमर्जेंसी, घर खरीदना जैसी चीजों के लिए बचत और निवेश के बारे में सोचते हैं। भविष्य में खुद को Financial तौर से निर्भर करने के लिए Mutual fund एक अच्छा और सुरक्षित तरीका है।

लोगों को आज भी इस विषय पर ज्यादा जानकारी नहीं है। लोग इसे डायरेक्ट Stock Market से जोड़ कर देखते हैं और Mutual Fund में निवेश करने से डरते हैं। जानकारी का अभाव ही इस डर का कारण है। आज हम आपको Mutual Fund क्या है? से लेकर Mutual Fund में कैसे निवेश करें? Mutual Fund  की क्या स्किम होती है और कैसे काम करती है ? इन सभी के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देने जारहे हैं।

Mutual Fund का इतिहास

किसी विषय के बारे में जानने से पहले उसके इतिहास के बारे में जानना जरूरी होता है।भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा संसद के अधिनियम के तहत 1963 में UTI ( Unity Trust of India) के गठन के साथ Mutual Fund की शुरुवात हुई। इसको शुरू करने का मुख्य कारण लोगों में निवेश के प्रति जागरूकता पैदा करना था।UTI ने 1978 तक RBI की निगरानी में काम किया जिसके बाद इसे RBI से अलग कर दिया गया।

1987 में Public Fund की शुरुवात हुई जिसमें बैंको को Mutual Fund बनाने का मौका मिला।  

1993 में Private Mutual fund की शुरुवात हुई जिसमे निवेशकों को बहुत से विकल्प मिले।

Mutual Fund क्या है?||What is Mutual Fund in  Hindi

Mutual Fund बहुत सारे निवेशकों द्वारा जोड़ा गया fund होता है। Mutual Fund कम्पनीया इन्वेस्टर्स से पैसे लेकर share market में अलग अलग investment करती हैं जिससे मुनाफा हो सके। भविष्य में जो भी मुनाफा होता है वो निवेशकों को दे दिया जाता है।

निवेशक के इन Funds को एक अनुभवी मैनेजर अलग अलग शेयरों में निवेश करता है जिसे Fund Manager कहते हैं। Fund Manager का काम निवेशक के फंड्स को लाभ में बदलना होता है।

जिस प्रकार से Stock Market की देख देख SEBI (Securities & Exchange Board of India) करती है उसी प्रकार से Mutual Funds की देख रख भी SEBI के हाथ में होता है।  निवेशकों के पैसे को संरक्षित रहें इसलिए सेबी समय-समय पर नए नए नियम एवं दिशा-निर्देश बनाती है। 

Mutual Fund में NAV क्या  है? What is NAV

Mutual fund में निवेश करने से पहले कुछ चीज़ों के बारे में जानना जरूरी है जिसमे NAV क्या है? जैसे सवाल का जवाब होना सबसे जरूरी है। 
NAV को Net Asset Value कहा जाता है। जिस प्रकार से स्टॉक मार्केट में किसी कंपनी के एक शेयर की value को एक मूल्य द्वारा दर्शाया जाता है उसी प्रकार से किसी भी mutual fund में उसके 1 Unit को NAV के द्वारा दर्शाया जाता है। जब निवेशक किसी भी प्रकार के Mutual Fund में निवेश करता है उसे कुछ units NAV के हिसाब से मिल जाती है। 
इस NAV का भाव स्टॉक मार्केट में शेयरों के भाव की तरह ही ऊपर नीचे करता है। यहाँ पर निवेशक  के लिए सुरक्षा वाली बात यह है कि इन NAVs के भाव में उतार चढ़ाओ किसी एक कंपनी के शेयर के उतार चढ़ाओ से बिलकुल अलग होता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि Fund Manager सभी पैसों को किसी एक कंपनी या Industry में ना डाल कर अलग अलग प्रकार की कंपनियों और इंडस्ट्रीज में निवेश करता है। 

Mutual Fund के प्रकार || Types of Mutual Funds

आज की दुनिया में भी बहुत से लोग ऐसे है जो share market का इतना knowledge  नहीं रखते , परन्तु ऐसे लोग mutual fund में निवेश करके अच्छा खासा मुनाफा हासिल कर रहे हैं । mutual fund की एक बहुत ही ख़ास बात ये की यहाँ आप अपने बजट और लक्ष्य  के अनुसार  प्लान को चुन सकते है। आइए फिर जानते हैं आखिर Mutual Fund के कितने  प्रकार का है ?

Mutual Fund  के अंदर उनकी  संरचना के आधार पर 2 प्रकार हैं  –

  • अवधि के अनुसार
    • Open Ended Mutual Fund 
    • Close Ended Mutual Fund 

1. Open Ended Mutual Fund 
वे म्यूच्यूअल फंड्स जिनमे निवेशक को अपने फंड्स किसी भी समय खरीदने या बेचने की छूट होती है बिना कोई पेनालिटी लगे उसे Open Ended Mutual Fund कहते हैं। इस प्रकार के फंड्स निवेशक ज्यादा पसंद करते हैं क्युकी इनमे फंड्स को रोके रहने की कोई समय सीमा नहीं होती। 

2. Close Ended Mutual Fund 
वे फंड्स जिनमे फंड्स को बेचने की एक निर्धारित अवधि सुनिश्चित होती है ,जिसे अवधि के बाद ही आप अपने फंड्स को बेच सकते हैं।

  • Asset Allocation के अनुसार 
    • Equity Fund
    • Debt Fund
    • Balanced Mutual Fund
    • Solution Oriented Mutual Fund
    • Liquid Fund 

1. Equity Fund
इक्विटी फंड में आपको लम्बे समय के लिए इन्वेस्टमेन्ट करने का ऑप्शन मिल जाता है। ये फंड अपना ज्यादातर हिस्सा स्टॉक्स में इन्वेस्ट करते हैं और इनमे जोखिम के साथ साथ return लाभ भी ज्यादा होता है।  

2.Debt Fund
डेब्ट फंड्स वो फंड होते हैं जिनका ज्यादातर निवेश सरकारी बांड्स , डिबेंचर्स में किया जाता है। ऐसे फंड्स ज्यादा सुरक्षित होते हैं कित्नु इनमे return लाभ एक निश्चित प्रतिसत के आस-पास ही होता है।  

3.Balanced Mutual Fund
अगर आप ये तय नहीं कर पा रहे है की मुझे लम्बे समय के लिए निवेश करना चाहिए या फिर कम समय के लिए , तो ऐसे में आप Balanced Mutual Fund को चुन सकते है।  इसमें आपको equality Mutual Fund एवं debt Mutual फण्ड दोनों साथ में मिल जाते है । आप जब तक इसमें निवेश करना चाहते है आप बहुत ही आसानी से कर पाएंगे।

4.Solution Oriented Mutual Fund
इसको खास लक्ष्य  के तौर पर बनाया गया है।  इसके माध्यम से आप बच्चो की शादी या फिर शिक्षा जैसे लक्ष्य हो सकते है , जहा आपको कम से कम 3-5 वर्ष के लिए निवेश करना होता है।

5.Liquid Fund
अगर आप चाहते है की मुझे कम टाइम तक ही इसमें निवेश करना है , ऐसे में आप Liquid Mutual Fund को चुन सकते है ।

6.Tax Saving Funds
ELSS(Equity Liquid Saving Scheme) एक ऐसा फंड हैं जिसमे इक्विटी निवेश से लाभ तो होता ही है उसके साथ साथ Tax में भी छूट मिलती है। इसका Lockin Period  3 वर्षों का होता है और निवेशक अपनी राशि 6 साल के बाद ही निकल सकता है।


यह भी पढ़ें 

Demat Account क्या है ?

Stock Market क्या है ? 

PAN Card क्या है ?


SIP सिप क्या है ? What is SIP in hindi 

SIP को Systematic Investment Plan कहते हैं।( सवाल का पूरा जवाब जानने के लिए विजिट करें  “SIP kya hai?) ।

SIP के जरिये आप हर महीने म्यूच्यूअल फण्ड में तय रकम के अनुचार निवेश कर सकते हैं । SIP (Systematic Investment Plan) से आपका म्यूच्यूअल फण्ड में अनुशासन बना रहता है। यह आपके म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश नियमित रूप से जारी रहता है ।

SIP Kya hai?

SIP के जरिये Share market में तेजी या मंदी कुछ भी हो आपका पैसा नियमित रूप से म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट होता रहता है, आपकी नियमितता बरक़रार रहती है । हर महीने निचित तारिक को आपका पैसा म्यूच्यूअल फण्ड में चला जायेगा आपके बैंक अकाउंट से , इसके लिए आपको कोई भी अलग से टाइम निकलने की जरुरत नहीं होती है।

Mutual fund में Invest कैसे करें?

म्यूच्यूअल फंड में इन्वेस्टमेंट करने के बहुत सारे तरीके है , जिनके माध्यम से आप मात्र 500 रुपए से निवेश की शुरुवात कर सकते है।

  • आप चाहे तो सीधा अपने Saving Bank अकाउंट से म्यूच्यूअल फंड में निवेश कर सकते हैं।  
  • आप म्यूच्यूअल फंड एडवाइजर की सहायता भी ले सकते है।
  • आज के समय में कई ऐसे Mobile Applications उपलब्ध हैं जिनके द्वारा आप आसान तरीके से म्यूच्यूअल फंड में निवेश कर सकते हैं।  
  • आप म्यूच्यूअल फंड कंपनियों की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर भी  आसानी से निवेश कर सकते हैं। 

म्यूच्यूअल फंड में सीधे निवेश के लिए आपको डायरेक्ट प्लान को चुनना होगा , परन्तु अगर आप किसी एडवाइजर की मदद से निवेश कर रहे है तो आपको रेगुलर प्लान को चुनना होगा । जब भी आप म्यूच्यूअल फंड  के डॉयरेक्ट प्लान को चुनते है तो फिर आपको किसी भी प्रकार का कमीशन देने की जरुरत नहीं होती , जब आप लम्बे समय तक इसमें निवेश करते है तो आपको बहुत अच्छा रिटर्न मिल जाता है । इसकी दिक्कत वाली बात ये है की आप जब इसके अंदर डायरेक्ट प्लान से निवेश करना चाहते है तो आपको खुद ही सब कुछ रिसर्च करना पड़ता है।

Best Mutual Fund Apps  in India  
  1. Groww
  2. Coin by Zerodha (Registration के लिए क्लिक करें )
  3. Scripbox
  4. Paytm Money
  5. ETmoney
  6. FundsIndia
  7. SBI Investap  
Mutual Fund  के 10  फायदे
  1. म्यूच्यूअल फंड का सबसे अच्छा फ़ायदा है इसमें आप सिर्फ 500 रूपए से अपने भविष्य के लिए निवेश की शुरुवात कर सकते हैं।
  2. बैंक से आटोमेटिक पैसे कट के आपके selected म्यूच्यूअल फंड में निवेश हो जाता है जिससे आपको बार बार याद रखने की जरूरत नहीं पड़ती।
  3. आपको अपनी सुविधा के अनुसार तारीख और राशि चुनने की आजादी मिलती है।
  4. स्टॉक मार्केट की थोड़ी से जानकारी के बाद भी आप म्यूच्यूअल फंड में निवेश कर के लाभ कमा सकते हैं।
  5. म्यूच्यूअल फंड निवेश का सुरक्षित माध्यम है ,यदि आप लम्बे समय , न्यूनतम 5 वर्ष के लिए निवेश में बने रहते हैं।
  6. म्यूच्यूअल फंड में आप अपने भविष्य के लक्ष्य के अनुसार अलग अलग प्रकार के फंड चुन के निवेश कर सकते हैं।
  7. म्यूच्यूअल फंड में हर आय वर्ग के लोगों के लिए विकल्प उपलब्ध हैं।
  8. म्यूच्यूअल फंड की ELSS स्कीम के द्वारा आपको future return तो मिलता ही है साथ साथ Tax में भी छूट मिलती है।
  9. म्यूच्यूअल फंड आपकी इन्वेस्टमेंट को अलग अलग प्रकार की Industries और कंपनियों  में निवेश करता है जिससे बाजार के उतार चढ़ाओ का ज्यादा फर्क नहीं पड़ता।
  10. प्रोफेशनल Fund Manager आपके निवेश की देख रेख करते हैं जिससे आपका पैसा सुरक्षित रहता है।

NOTE :

म्यूच्यूअल फण्ड में उतार चढाव आते रहते है , कभी कबार आपके पैसे भी डूब सकते है। आप सभी से आग्रह है की निवेश करते समय सभी दस्तावेजों को ध्यान से पढ़ ले, एवं किसी की देखरेख में ही निवेश करे , अन्यथा आपको लॉस भी हो सकता है।

 

निष्कर्ष :

Mutual Fund क्या है ? सवाल पर ब्लॉग लिखने का मेन मकसद लोगों में जानकारी के अभाव के कारण होने वाले डर को दूर करना है। उम्मीद करता हूँ आप अपनी सुविधा के अनुसार अब अपने लिए म्यूच्यूअल फंड चुनने में खुद को सहज महसूस करेंगे। इस जानकारी को  अपने दोस्तों , घर – परिवार में जरूर शेयर करें।

नीचे दिए Social Button का उपयोग कर अपने Facebook ,Twitter  पर जरूर शेयर करें। जानकारी कैसी लगी अथवा कोई सवाल हो तो Comment में जरूर पूछें।

धन्यवाद !

Happy Investing !

4 thoughts on “Mutual Fund क्या है? ।। What is Mutual Fund in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *