Dogecoin क्या है? | What is Dogecoin in Hindi

Dogecoin क्या है? What is Dogecoin: मजाक मजाक में शुरू की गई एक Cryptocurency जिसे इन्वेस्टमेंट न समझ कर इमोशन से जोड़ कर देखा जारहा  है !!

Dogecoin-kya-hai | What-is-Dogecoin-in-hindi

आजकल Cryptocurrency की दुनिया में बहुत से कॉइन आचुके हैं जिनपर लोग ट्रेडिंग करते हैं। कुछ क्रिप्टोकोर्रेंसी के नाम आप ने सुने होंगे जैसे Bitcoin, Etherum, Ripple, Tron और भी हैं। इन सभी क्रिप्टोकरेन्सी में बिटकॉइन का नाम सबसे मशहूर है। Bitcoin इतना मशहूर हुआ कि लोगों को  लोगों को Cryptocurrency क्या है? जैसे सवाल के जवाब से पहले ये पता था की Bitcoin क्या  है? (आर्टिकल पढ़ सकते हैं )

खैर आज हम जिस क्रिप्टोकरेन्सी की बात करने चल रहे वो पिछले कुछ महीनो से चर्चा का विषय बानी हुई है। Dogecoin, हिंदी में आप इसे डोगे कोईन या डोज कॉइन कह सकते हैं। अपने नाम की तरह इस क्रिप्टोकोर्रेंसी के शुरू होने कहानी भी बड़ी दिलचस्प है। तो आइए जानते हैं कि Dogecoin क्या है? What is Dogecoin? डोगेकोईन  शुरू कैसे हुआ? और पिछले कुछ महीनो से यह इतना पॉपुलर क्यों है ? 

Dogecoin क्या है? | What is Dogecoin?

Dogecoin बिटकॉइन जैसी ही एक Cryptocurrency है। Dogecoin डोज कॉइन की शुरुवात बहुत ही दिलचस्प है क्युकी इसे बिटकॉइन की तरह किसी टेक्नोलॉजी बेस पर नहीं बनाया गया था। हालाकिं बाद में जाके Dogecoin को  एक क्रिप्टोकररेंसी का रूप दिया गया। 

बात है साल 2013 की, उस वक़्त इंटरनेट पर Doge Meme के रूप में एक फोटो बहुत वायरल थी जिसमें शीबा इनु ब्रीड के जापानी कुत्ते जो देखने में काफी प्यारे बड़े खतरनाक होते हैं , को कुछ टूटी फूटी अंग्रेजी के साथ एक मेमे के रूप दिखाया गया था। Doge meme साल 2013 का टॉप मेमे बन गया था।  

Dogecoin-kya-hai?
Source: Wikipedia

Dogecoin की शुरुवात उस वक़्त IBM में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में काम कर रहे Billy Markus और Adobe में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में काम कर रहे Jackson Palmer मजाक के तौर पर की थी। 

Doge मेमे के पॉपुलर होने के कारण Jackson ने twitt किया की डोजकॉइन आगे चलकर एक बड़ी चीज़ बन सकती है। इस ट्वीट की पॉपुलैरिटी लोगों के बीच बढ़ती गई जिसे देखकर खुद जैक्सन ने doge.com  डोमेन खरीद लिया और बाद उन्होंने देखा कि इस डोमेन पर ट्रैफिक भी काफी आने लगा है। जैक्सन ने आगे चलकर अपनी Dogecoin वेबसाइट पर अनाउंस किया कि जोभी इस डोमेन को एक एक रियलिटी या क्रिप्टोकररेन्सी में बदलने में हेल्प करेगा उसे पार्टनर बना दिया जाएगा। Billy ने इस बात पर गौर किया और दोनों ने मिलकर Dogecoin को क्रिप्टोकोर्रेंसी में बदलने का पूरा सेटअप तैयार किया।इस तरह से Dogejoin Cryptocurrency 6 दिसंबर 2013 में अस्तित्व में आया। 

लोगों  धीरे धीरे सोशल मीडिया और  Reditt पर dogecoin को किसी अच्छी पोस्ट की तारीफ करने के रूप में इस्तेमाल करने लगे जैसे “वह क्या पोस्ट है की जगह dogecoin देने लगे और इसकी डिमांड और पॉपुलैरिटी बढ़ती गई। इसकी पॉपुलैरिटी का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि साल 2014 में जब बिटकॉइन जब अपने सबसे ऊपरी स्तर था , डोजकॉइन ने बिटकॉइन को भी पीछे कर दिया था। 

Dogecoin में तेजी आने का कारण क्या है?

डोगेकोईन Dogecoin में तेजी आने का मुख्य 2 कारण हैं :

  1. Elon Musk  Dogecoin-kya-hai | Dogecoin-Price
  2. Redditt

Elon Musk साहब को कौन नहीं जनता। उनकी एक twitt बाजार में उथल पुथल करने के लिए काफी है।आपको याद होगा जब उन्होंने Signal App के ऊपर Twitt किआ था , उसके यूजर कितने बढ़ गए थे।  पिछले कुछ समय से उनके कई twitt Cryptocurrency के इर्द-गिर्द देखने को मिल रही है। उनकी दिलचस्पी क्रिप्टो वर्ल्ड की ओर भी है आसानी से पता लगाया जा सकता है।

Dogecoin-kya-hai | Dogecoin-ka-Price-in-India
Source:Google

एलोन मस्क जिस भी विषय, टेक्नोलॉजी या कंपनी  पर ट्वीट करते हैं उसमे तेजी देखने को मिल जाती है। कुछ महीनो पहले उन्होंने बिटकॉइन पर कुछ टिप्पड़ी की थी और फरवरी के महीने में उन्होंने Dogecoin को अपनी twitt पर जगह दी।

Dogecoin के ट्रेंड में या बढ़ने का दूसरा कारण है Redditt जिसके 2 यूजर ग्रुप हैं Wallstreetbets  और Satoshi Street Bets. इन दोनों ग्रुप का टारगेट है डोगेकोईन की प्राइस, जो की 0.65 सेंट्स को 1 डॉलर तक पहुँचाना। इसके लिए इन ग्रुप के लोगों ने डोगेकोईन को तबतक खरीदते रहने और नहीं बेचने का प्लान किया है जब तक डोज कॉइन की वैल्यू 1 डॉलर न होजाये। Dogecoin-kya-hai | Dogecoin-Price-kya-hai

डोगेकोईन को लोग एक कल्चर की तरह देख रहे हैं न की एक इन्वेस्टमेंट की तरह। डोज कॉइन इन्वेस्टर्स की खुद की एक कम्युनिटी बन रही है जो इसे एक सोशल कॉज में मदद के लिए यूज कर रहे हैं , जिसका मतलब है जिस तरह हम सोशल प्लेटफार्म जैसे Facebook,Twitter ,Instagram पर किसी अच्छे और बुरे दोनों तरह के पोस्ट के लिए Like / Share जैसे इमोशन दिखाते हैं उसी तरह ये कम्युनिटी डोगेकोईन का उपयोग सोशल वेलफेयर में करती है। इस कम्युनिटी ने जमैकन बोबस्लेय टीम को Winter Olympics में जाने के लिए 50000 डॉलर डोनेट किये।     

इसके अलावा फेमस सेलिब्रिटी जैसे Snoop Dogg, Gene Simmons से इसको सपोर्ट मिल रहा है।  

Dogecoin की मार्केट वैल्यू क्या है? 

Dogecoin डोगेकोईन में सबसे ज्यादा बूम 2015 में आया जब Robinhood App में Dogecoin की लिस्टिंग हुई और देखते ही देकते Coinbase (एक अमेरिकी कंपनी है जो एक क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज प्लेटफॉर्म संचालित करती है।) ने भी लिस्ट कर लिया

2017 की शुरुवात में जिस Dogecoin की टोटल मार्किट वैल्यू  20 मिलियन डॉलर थी वो दिसंबर 2017 आते आते 2 बिलियन डॉलर पहुंच गई थी । इसके बाद डोजकोइन में ज्यादा एक्टिविटी नहीं हुई।  
Dogecoin की मौजूदा वैल्यू आज की तारिख में लगभग 85 बिलियन डॉलर है। 

Dogecoin का प्राइस क्या है ? Dogecoin Current Price in India

आज की तारीख यानि की 26 मई 2021 को Dogecoin का प्राइस 26 रुपए के आस-पास है। पिछले कुछ दिनों से Elon Musk के Twitt के बाद से इसमें तेजी तेजी देखी गई थी और यह 40 से 50 रुपए के बीच ट्रेड हो रहा था।        

Dogecoin की खामियां क्या हैं? 
  • डोगेकोईन की पहली प्रॉब्लम है इसकी सप्लाई। बिटकॉइन की तुलना इसका सप्लाई बहुत अधिक है। अभी तक 100 बिलियन डोगेकोईन अवेलेबल हैं ऊपर से हर साल 500 बिलियन Dogecoin और आएंगे।  बिटकॉइन में ऐसा नहीं है , यहाँ पर केवल 21 मिलियन बिटकॉइन ही अवेलेबल रहेंगे। 
  • डोज कॉइन की दूसरी खामी है इसका सॉफ्टवेयर अपडेट जोकि काफी सालों से नहीं हुआ है। यह बिटकॉइन की शुरुवाती तकनीक पर आज भी काम करता है। 

निष्कर्ष :

आज के इस आर्टिकल में हमने Dogecoin क्या है? What is Dogecoin in Hindi, Dogecoin Price की पूरी जानकारी देने का प्रयास किया है। आशा करता हूँ आपको डोगेकोईन की पूरी जानकारी मिलगई होगी। 

आशा करते है की आपको हमारी ये जानकारी  पसंद आयी होगी और आपको कुछ नया सीखने  को जरूर मिला होगा । कृप्या इस जानकारी social media बटन के जरिये  जरूर शेयर करें ।  

धन्यवाद!
आपके कमेंट प्रेरणा श्रोत हैं

8 thoughts on “Dogecoin क्या है? | What is Dogecoin in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *